asyabahisgo1.com dumanbetyenigiris.com pinbahisgo1.com www.sekabet-giris2.com olabahisgo.com maltcasino-giris.com faffbet.net betforward1.org 1xbet-farsi3.com www.betforward.mobi 1xbet-adres.com 1xbet4iran.com www.romabet1.com yasbet2.net 1xirani.com www.romabet.top
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeIndiaSecurity Increased Outside Indian Embassy In America As Khalistanis Plan Protest Outside...

Security Increased Outside Indian Embassy In America As Khalistanis Plan Protest Outside Indian Mission


Indian Embassy In USA: खालिस्तान समर्थकों ने वाशिंगटन डीसी में भारतीय मिशन के बाहर विरोध प्रदर्शन की योजना बनाई है, जिसके चलते संयुक्त राज्य अमेरिका में भारतीय दूतावास के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई है. 

इससे पहले जुलाई महीने में खालिस्तान समर्थकों ने भारतीय वाणिज्य दूतावास में आग लगा दी थी. हालांकि, सैन फ्रांसिस्को अग्निशमन विभाग ने उसे तुरंत बुझा दिया था. इस घटना में ज्यादा नुकसान नहीं हुआ था और न ही किसी के हताहत होने की सूचना मिली थी.

मार्च में किया था वाणिज्य दूतावास पर हमला 
अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मैथ्यू मिलर ने सैन फ्रांसिस्को की घटना की निंदा की थी और उसे बर्बरता करार दिया था. इसके अलावा इसी साल मार्च में भी एक विरोध प्रदर्शन के दौरान खालिस्तान समर्थकों के एक समूह ने भारतीय वाणिज्य दूतावास पर हमला कर उसे क्षतिग्रस्त कर दिया था. 

अमेरिका में ‘किल इंडिया’ रैली
दरअसल, खालिस्तान समर्थकों ने अमेरिका में ‘किल इंडिया’ विरोध रैली की घोषणा की थी, जिसका उद्देश्य मारे गए आतंकवादी हरदीप सिंह नीजर के नाम पर धन इकट्ठा करना था. निज्जर भारत में मोस्ट वांटेड था और भारत सरकार ने उस पर 10 लाख रुपये के नकद इनाम की घोषणा भी की थी. उसे जून में कनाडा में एक गुरुद्वारे के बाहर गोली मार दी गई थी.

दूतावास के परिसर में लगाया था खालिस्तानी झंडा
विरोध प्रदर्शन के दौरान खालिस्तान समर्थकों ने नारेबाजी की और पुलिस के बनाए अस्थायी सुरक्षा घेरे को भी तोड़ दिया था. इतना ही नहीं प्रदर्शकारियों ने वाणिज्य दूतावास परिसर के अंदर झंडे भी लगा दिए थे. हालांकि, वाणिज्य दूतावास कर्मियों ने इन झंडों को हटा दिया था.

कनाडा के भारतीय दूतावास पर हमला
गौरतलब है कि खालिस्तान समर्थक केवल अमेरिका में ही भारतीय दूतावास को निशाना नहीं बना रहे हैं, बल्कि वे ब्रिटेन और कनाडा के दूतावास पर हमला कर रहे हैं, जिससे इन देशों में रहने वाली भारतीय मूल के लोगों की सुरक्षा को लेकर सवाल उठ रहे हैं.

यह भी पढ़ें- India-China Rigidity: भारत-चीन के बीच कमांडर लेवल की बैठक, LAC पर सैनिकों की वापसी पर भी हुई बात, इन मुद्दों को लेकर बनी सहमति

RELATED ARTICLES

Most Popular