https://www.fapjunk.com https://pornohit.net london escort london escorts buy instagram followers buy tiktok followers Ankara Escort Cialis Cialis 20 Mg
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeIndiaRam Mandir Inauguration Narayan Rane Said Shankaracharyas Should Bless Ram Temple Instead...

Ram Mandir Inauguration Narayan Rane Said Shankaracharyas Should Bless Ram Temple Instead Of Criticising


Ram Mandir Inauguration:  अयोध्या में शंकराचार्यों द्वारा राम मंदिर के उद्घाटन कार्यक्रम का निमंत्रण ठुकराने पर केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने शनिवार (13 जनवरी) को कहा कि शंकराचार्यों को मंदिर के लिए मंगल कामना करनी चाहिए. उन्होंने शंकराचार्यों पर इस मामले को राजनीति चश्मे से देखने का आरोप भी लगाया. महाराष्ट्र के पालघर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि, शंकराचार्यों को हिंदू धर्म में अपना योगदान भी बताना चाहिए.

नारायण राणे यहीं नहीं रुके. उन्होंने कहा, “अब तक कोई भी ऐसा नहीं कर पाया था. मोदी और भाजपा ने इस मुद्दे को उठाया और लंबे संघर्ष के बाद मंदिर बना है. इन सबके बाद उन्हें मंदिर के लिए मंगल कामना करनी चाहिए या इसकी आलोचना करनी चाहिए? इसका मतलब है कि शंकराचार्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा को राजनीतिक चश्मे से देखते हैं. यह मंदिर राजनीति पर नहीं बल्कि धर्म पर बना है. राम हमारे भगवान हैं.”

उद्धव ठाकरे पर भी साधा निशाना

पत्रकारों ने जब उनसे पूछा कि शिवसेना (यूबीटी) प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा है कि राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को राम मंदिर का उद्घाटन करना चाहिए, तो इस पर राणे ने कहा कि वह किसी ऐसे व्यक्ति पर टिप्पणी नहीं करेंगे, जिसके पास कोई नौकरी नहीं है और वह घर पर बैठा है.” राणे ने दावा किया कि ठाकरे गुट को जल्द ही और अधिक नुकसान होगा क्योंकि उनके साथ रुके 16 में से 8 विधायक भाजपा से संपर्क कर रहे हैं और जल्द ही इसमें शामिल होंगे.

कांग्रेस ने नारायण राणे के बयान की आलोचना की

इस बीच, महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रवक्ता अतुल लोंढे ने राणे पर हिंदू धर्म और उसके आध्यात्मिक गुरुओं का अपमान करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा राणे को हिंदू धर्म के बारे में पर्याप्त जानकारी नहीं है. उन्होंने नारायण राणे की टिप्पणी पर भाजपा से प्रतिक्रिया मांगी. बता दें कि शुक्रवार (12) को विश्व हिंदू परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा था कि चार में से दो शंकराचार्यों ने उद्घाटन समारोह का स्वागत किया है. हालांकि उनमें से कोई भी 22 जनवरी को अयोध्या में होने वाले भव्य कार्यक्रम में शामिल नहीं होगा. बता दें कि श्रृंगेरी शारदा पीठ, द्वारका शारदा पीठ, ज्योतिर पीठ और गोवर्धन पीठ के शंकराचार्यों की ओर से प्रतिष्ठा समारोह में शामिल न होने की खबर पर विपक्षी दल भाजपा पर लगातार निशाना साध रहे हैं.

ये भी पढ़ें

Pakistan Imran Khan: इमरान खान की मुश्किलें नहीं हो रहीं कम! SC के फैसले के बाद चुनावी पिच पर बिना ‘बल्ले’ के उतरेगी PTI, जानें पूरा मामला

RELATED ARTICLES

Most Popular