https://www.fapjunk.com https://pornohit.net london escort london escorts buy instagram followers buy tiktok followers Ankara Escort Cialis Cialis 20 Mg
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeIndiaRam Mandir Inauguration know the complete details of all three floors of...

Ram Mandir Inauguration know the complete details of all three floors of ayodhya Ram Temple


Ramlala Pran Pratishtha: भारत ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में इस समय राम मंदिर उद्घाटन की धूम है. अयोध्या में निर्माणाधीन राम मंदिर को तीन फ्लोर में बनाया जा रहा है, प्रत्येक मंजिल की ऊंचाई 20 फीट रहेगी. नागर शैली में बन रहे राम मंदिर में उत्तर और दक्षिण भारत की झलक दिखेगी. पूरे मंदिर में कुल 392 खम्भे और 44 द्वार होंगे.

राम मंदिर के ग्राउंड फ्लोर की जानकारी
भूतल में गर्भगृह बनाया गया है, जहां प्रभु श्रीराम के बाल रूप यानी श्रीरामलला विराजमान होंगे. राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के मुताबिक मंदिर की लंबाई (पूर्व से पश्चिम) 380 फीट, चौड़ाई 250 फीट और ऊंचाई 161 फीट रहेगी.  ट्रस्ट के मुताबिक ग्राउंड फ्लोर में 160 खंभे बनाये गए हैं, जिसपर मंदिर का छत टिका है. मंदिर निर्माण के पहले फेज में ग्राउंड फ्लोर पर गर्भगृह समेत 5 मंडप बनाए गए हैं. नृत्य मंडप, रंग मंडप, गूढ़ मंडप ( सभा मंडप) प्रार्थना मंडप और कीर्तन मंडप.

पहले फेज में ही, मंदिर का प्रवेश द्वार ‘सिंह द्वार’ का निर्माण किया गया है. मंदिर में प्रवेश पूर्व में निर्मित सिंह द्वार से 32 सीढ़ी चढ़कर होगा.  32 सीढ़ियों की ऊंचाई कुल 16.5 फीट है.  मंदिर में चढ़ने के लिए दिव्यांगजन और वृद्धजनों के लिए रैम्प एवं लिफ्ट की व्यवस्था की गई है. ट्रस्ट की वेब साइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक मुख्य तौर पर मंदिर के ग्राउंड फ्लोर 12 द्वार होंगे, जबकि कुल दरवाजों की संख्या 44 होगी.

मंदिर के भूतल में ही मंदिर के चारों तरफ परकोटा बनाया गया है, जिसकी कुल लंबाई 732 मीटर और चौड़ाई 4.25 मीटर है.  परकोटा के चार कोनों पर चार मंदिर बनाए गए हैं. इनमें भगवान सूर्य, शंकर, गणपति और देवी भगवती के मंदिर हैं. परकोटे की दक्षिणी भुजा में हनुमान जी एवं उत्तरी भुजा में अन्नपूर्णा माता का मंदिर बनाया गया है.

राम मंदिर के फर्स्ट फ्लोर पर क्या होगा
राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक मंदिर के प्रथम तल पर 132 खंभों का निर्माण किया जाएगा, यानी भूतल से प्रथम तल में खंभों की संख्या घट जाएगी.  प्रथम तल पर गर्भगृह के ठीक ऊपर मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम का दरबार होगा. यहीं पर सिंहासन लगाया जाएगा, जिसपर माता जानकी और भाई लक्ष्मण के साथ भगवान श्रीराम राजा के रूप में विराजेंगे. यहां वीर हनुमान भी बैठे नजर आएंगे.

मंदिर के प्रथम तल पर राम दरबार के अलावा अन्य मंदिर भी रहेंगे. मंदिर के प्रथम तल पर चारों तरफ बालकनी होगी, जहां से श्रद्धालु अयोध्या की छटा निहार सकेंगे.

राम मंदिर के सेंकड फ्लोर यानी तीसरे तल पर क्या होगा
श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट के सदस्य डॉ. अनिल मिश्र के अनुसार मंदिर का निर्माण कार्य तीन फेज में बांटा गया है. पहले फेज का निर्माण पूरा होते ही दूसरे फेज का निर्माण शुरू होगा. दूसरे फ्लोर का काम पूरा होने का बाद तीसरे फ्लोर पर काम शुरू होगा. डॉ. अनिल मिश्र के तीसरे फ्लोर पर श्रद्धालु नहीं जा सकेंगे. इस फ्लोर पर मंदिर के करीब वाला सिर्फ मंडप बना होगा. 

राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की वेबसाइट के मुताबिक तीसरे तल पर मात्र 74 खंभे बनेंगे, जिसपर सबसे उंचे मंडप का शिखर टिका होगा.  फिलहाल मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के दौरान लकड़ी की डिजाइन के सहारे ऊपरी तौर पर मंदिर का पूरा रूप दिया गया है.

RELATED ARTICLES

Most Popular