https://www.fapjunk.com https://pornohit.net london escort london escorts buy instagram followers buy tiktok followers
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeIndiaRam Mandir Inauguration High Security In Ayodhya AI Powered CCTVs And Anti...

Ram Mandir Inauguration High Security In Ayodhya AI Powered CCTVs And Anti Drone Systems Will Kept Close Eye On Suspects


Ram Mandir Ayodhya Newest Information: अयोध्या में राम मंदिर के उद्घाटन में महज एक दिन बचा है. सोमवार (21 जनवरी) को प्राण प्रतिष्ठा के बाद मंदिर दर्शन के लिए खुल जाएगा. प्राण प्रतिष्ठा समारोह में करीब 8 हजार आमंत्रित मेहमानों के पहुंचने का अनुमान है. इसमें से कई वीवीआईपी गेस्ट भी हैं.

8 हजार गेस्ट के अलावा अन्य श्रद्धालुओं की भीड़ भी समारोह में शामिल होने के लिए मंदिर के आसपास रहेगी. ऐसे में यहां सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. शनिवार रात से ही अयोध्या पूरी तरह से छावनी में बदल गई है. यहां शहर के एंट्री पॉइंट से लेकर राम मंदिर तक चप्पे-चप्पे पर पुलिस और एटीएस के कमांडो तैनात रहेंगे. अयोध्या में फिलहाल ब्लैककैट कमांडो, बख्तरबंद गाड़ियां और ड्रोन आपको खूब नजर आएंगे. एनडीआरएफ की एक टीम को सरयू नदी के पास तैनात किया गया है.

रेड और येलो जोन में बंटा अयोध्या

यूपी पुलिस की बात करें तो यहां यूपी पुलिस ने 3 डीआईजी की तैनाती की है. यही नहीं, 17 आईपीएस, 100 पीपीएस लेवल के अधिकारी, 325 इंस्पेक्टर, 800 सब-इंस्पेक्टर और 1000 से अधिक कॉन्स्टेबल को सुरक्षा व्यवस्था मजबूत रखने के लिए तैनात किया गया है. सुरक्षा में कोई चूक न रहे, इसके लिए इसे रेड जोन और येलो जोन में बांटा है. रेड जोन में पीएसी की 3 बटालियन तैनाती है, जबकि येलो जोन में 7 बटालियन तैनात है.

निजी सुरक्षा एजेंसी भी रखेगी नजर 

पुलिस के अलावा अयोध्या में 22 जनवरी को सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद रखने के लिए प्राइवेट सिक्योरिटी एजेंसी की भी मदद ली जा रही है. अयोध्या में निजी सुरक्षा एजेंसी SIS मोर्चा संभाल चुकी है. कंपनी के डायरेक्टर ऋतुराज सिन्हा का कहना है कि हम अयोध्या में सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता रखने के लिए एआई (AI) तकनीक की भी मदद ले रहे हैं.

एआई से इस तरह पकड़े जाएंगे संदिग्ध

कंपनी के डायरेक्टर ने बताया कि, अगर कोई हिस्ट्रीशीटर मंदिर परिसर के आसपास आएगा तो कुछ ही सेकेंड में एआई टेक्निक के जरिये कैमरे से उसकी पहचान हो जाएगी. उन्होंने बताया कि इसके लिए हमने पहले यूपी पुलिस ने अपराधियों का एक डेटाबेस लिया था. इसे डेटाबेस को हमने एआई टेक्नोलॉजी से जोड़ दिया. इसके बाद अब अगर इन डेटा में मौजूद कोई भी अपराधी दिखेगा तो कैमरा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से उसकी पहचान करके कंट्रोल रूम में मैसेज भेजेगा.

ये भी पढ़ें

PM Modi South India Go to: जहां से बनाया गया ‘रामसेतु’, पीएम मोदी आज करेंगे उस जगह का दौरा, जानें सबकुछ



RELATED ARTICLES

Most Popular