asyabahisgo1.com dumanbetyenigiris.com pinbahisgo1.com www.sekabet-giris2.com olabahisgo.com maltcasino-giris.com faffbet.net betforward1.org 1xbet-farsi3.com www.betforward.mobi 1xbet-adres.com 1xbet4iran.com www.romabet1.com yasbet2.net 1xirani.com www.romabet.top
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeIndiaParliament Monsoon Session No Confidence Motion Debate On 31 July By Congress...

Parliament Monsoon Session No Confidence Motion Debate On 31 July By Congress BJP Modi Government Manipur Violence


No Confidence Motion: मणिपुर को लेकर संसद के दोनों सदनों (लोकसभा और राज्यसभा) में गतिरोध जारी है. इस बीच सूत्रों ने बताया कि लोकसभा में विपक्ष दलों के गठबंधन ‘इंडिया’ की ओर से लाए गए अविश्वास प्रस्ताव पर सोमवार (31 जुलाई) को चर्चा की तारीख तय हो सकती है. चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मौजूद रह सकते हैं.

हंगामे के कारण लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही सोमवार तक के लिए स्थगित कर दी गई है. लगातार विपक्ष मांग कर रहा है कि मणिपुर हिंसा पर पीएम मोदी संसद के भीतर बयान दें तो वहीं सरकार कह रही है कि हम चर्चा के लिए तैयार हैं, लेकिन विपक्ष भाग रहा है. 

लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही स्थगित होने के बाद केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने बताया कि मणिपुर पर पीएम मोदी चर्चा के लिए तैयार हैं. दरअसल पीएम मोदी के मणिपुर की स्थिति पर बयान देने की मांग की रणनीति के तहत ही विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव को देखा जा रहा है क्योंकि सरकार के पास बहुमत है.  

सरकार ने अविश्वास प्रस्ताव पर क्या कहा?
केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने बताया कि मणिपुर मामले पर पीएम मोदी चर्चा के लिए तैयार हैं. ऐसे में अब स्पीकर ओम बिरला को तय करना है कि इस विषय पर कब चर्चा होगी. उन्होंने कहा कि अविश्वास प्रस्ताव सरकार को गिराने के लिए लाया जा रहा है, लेकिन सदन में हमारे पास पर्याप्त बहुमत है. 

विपक्षी दलों पर किया हमला
गोयल ने आगे कहा कि विपक्ष के सभी दलों को आपसी सहयोग से सदन को चलाने के बारे में सोचना चाहिए.  उन्होंने कहा कि हमने सभी दलों को ऑल पार्टी मीटिंग के समय ही मणिपुर पर चर्चा के लिए बोला था, लेकिन सदन में हंगामा करके संसद ना चलने देने से सदन की कार्यवाही बाधित हो रही है. 

गोयल ने कहा कि विपक्ष आरोप लगाता है कि बोलते समय उनका माइक बंद कर दिया जाता है, लेकिन ऐसा नहीं है बस यह विपक्ष सरकार को बदनाम करने के लिए ऐसा कह रहा है. 

RELATED ARTICLES

Most Popular