https://www.fapjunk.com https://pornohit.net london escort london escorts buy instagram followers buy tiktok followers
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeIndiaMNC Data Center Interest FDI Investment In Navi Mumbai After Opening Country...

MNC Data Center Interest FDI Investment In Navi Mumbai After Opening Country Largest Atal Setu ANN


Mumbai Atal Setu:  हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुंबई और नवी मुंबई को जोड़ने वाले समुद्र पर बने ‘अटल सेतु’ ब्रिज को देश को समर्पित किया था. इससे पुल के बनने के बाद मुंबई और नवी मुंबई के बीच की दूरी 2 घंटे से घटकर 15 मिनट की हो गई. इसके अलावा मुंबई से पुणे और रायगज ज‍िले की भी दूरी कम हो गई.  

महाराष्ट्र सरकार के शीर्ष सरकारी सूत्रों ने बताया कि नवी मुंबई में एक बड़ा निवेश आने वाला है, क्योंकि एक बहुराष्ट्रीय कंपनी ने नवी मुंबई में सबसे बड़ा डेटा सेंटर स्थापित करने का प्रस्ताव दिया है. इससे राज्य में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) को काफी बढ़ावा मिल सकता है. इसके अलावा इससे राज्य के खजाने में बड़ा राजस्व आएगा और साथ ही महाराष्ट्र में बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे.

पिछले हफ्ते ही भारत के सबसे लंबे समुद्री पुल बहुचर्चित अटल सेतु ब्रिज का उद्घाटन किया गया था. इससे मुंबई और नवी मुंबई के बीच यात्रा का समय घटकर 15 से 20 मिनट हो गया है.

शिंदे सरकार का विपक्ष को जवाब 
महाराष्ट्र में विपक्षी MVA गठबंधन एकनाथ शिंदे सरकार पर निशाना साधता रहा है क‍ि महाराष्ट्र से निवेशक गुजरात जा रहे हैं. बहुराष्ट्रीय कंपनी के आने से महायुति (सीएम शिंदे शिवसेना, बीजेपी और अजीत पवार एनसीपी गुट) सरकार के लिए राहत मिलती दिख रही है. नवी मुंबई में एमएनसी डेटा सेंटर राज्य के लिए गेम चेंजर साबित हो सकता है. 

भारत के 5 ट्रिलियन इकॉनमी के सपने में महाराष्ट्र का बड़ा योगदान 
भारत को 5 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के प्रधानमंत्री मोदी के सपने को पूरा करने के लिए महाराष्ट्र सरकार एड़ी चोटी का जोर लगा रही है. इसके लिए सरकार राज्य में एफडीआई निवेश को लाने की कोशिश कर रही है.  महाराष्ट्र के उद्योग मंत्री उदय सामंत ने हाल ही में घोषणा की थी कि कैसे महाराष्ट्र राज्य भारत का सबसे बड़ा डेटा सेंटर हब बनकर उभर रहा है.

भारत के सबसे बड़े डेटा सेंटर हब के रूप में अग्रणी महाराष्ट्र 
उद्योग मंत्री उदय सामंत ने कहा, “इसका श्रेय हमारी आईटी (सूचना और प्रौद्योगिकी) नीतियों को जाता है. तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने अनुकूल आईटी नीतियां पेश की थीं. हालांकि, यह 2019 (एमवीए उद्धव ठाकरे शासन) में समाप्त हो गई. सीएम एकनाथ शिंदे और फडणवीस ने मिलकर उस आईटी नीति को पुनर्जीवित किया. हमने इसमें डेटा सेंटर भी शामिल किए और अब महाराष्ट्र भारत के सबसे बड़े डेटा सेंटर हब के रूप में अग्रणी है.”

अटल सेतु ब्रिज के उद्घाटन के बाद देवेंद्र फडणवीस ने घोषणा की थी कि देश की 65 प्रतिशत डेटा सेंटर क्षमता नवी मुंबई और रायगड क्षेत्र में तैयार की गई है. फडणवीस ने कहा था, “अब, नवी मुंबई और रायगढड क्षेत्र भारत का अगला बड़ा आर्थिक केंद्र बन जाएगा. इस क्षेत्र में लगभग 65 प्रतिशत डेटा सेंटर क्षमता उपलब्ध कराई गई है. यह क्षेत्र अब सूचना और प्रौद्योगिकी (IT) और आर्टि‍फ‍िश‍ियल इंट‍ेल‍िजेंस (AI) क्रांति का गवाह बनेगा.” 

यह भी पढ़ें: Udhayanidhi Stalin Remarks: उदयन‍िध‍ि स्‍टाल‍िन बोले, ‘अयोध्‍या में राम मंद‍िर के ख‍िलाफ नहीं, लेक‍िन मस्जिद…’

RELATED ARTICLES

Most Popular