https://www.fapjunk.com https://pornohit.net london escort london escorts buy instagram followers buy tiktok followers
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeIndiaMallikarjun Kharge On DK Suresh Statement in Parliament Rajya Sabha BJP Reacts

Mallikarjun Kharge On DK Suresh Statement in Parliament Rajya Sabha BJP Reacts


Parliament Price range Session: कांग्रेस सांसद डीके सुरेश के दक्षिण भारत के लिए अलग राष्ट्र के बयान को लेकर बयानबाजी शुरू हो गई है. बीजेपी मामले को लेकर निशाना साधते हुए कह रही है कि राहुल गांधी चुप्पी साधे हुए हैं. इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि देश की तोड़ने वाली किसी भी नेता की बात सहन नहीं करेंगे.

मल्लिकार्जुन खऱगे ने कहा, ”आज मैंने टीवी पर सुना कि उन्होंने (डीके सुरेश) बोला कि मैंने ऐसा नहीं कहा, लेकिन कहा है तो प्रिविलेट कमेटी को मामले में काम करने दो. मैं बोलना चाहूंगा कि कोई भी देश तोड़ने की बात करेगा तो मैं सहन नहीं करूंगा. ऐसे में नेता कांग्रेस का या फिर दूसरी पार्टी का हो. मैं कहता हूं कि कन्याकुमारी से लेकऱ कश्मीर तक देश एक है.” 

उन्होंने आगे कहा, ”देश के लिए इंदिरा गांधी और राजीव गांधी ने जान दी है. ऐसी पार्टी (कांग्रेस) कभी देश को तोड़ने की बात नहीं कर सकती.” वहीं बीजेपी ने कहा कि डीके सुरेश को संसद में रहने का अधिकार नहीं है.  

दरअसल, कांग्रेस नेता डीके सुरेश ने गुरुवार (1 फरवरी) को कहा कि अगर विभिन्न करों से एकत्रित धनराशि के वितरण के मामले में दक्षिणी राज्यों के साथ हो रहे ‘अन्याय’ को ठीक नहीं किया गया तो दक्षिणी राज्य एक अलग राष्ट्र की मांग करने के लिए मजबूर हो जाएंगे. 

बीजेपी ने क्या कहा?
बीजेपी की ओर से प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए रविशंकर प्रसाद ने कहा कि डीके सुरेश भारत को तोड़ने की बात कर रहे हैं, उनके नेता राहुल गांधी चुप्पी साधे हुए हैं: उन्होंने आगे कहा कि उन्हें (डीके सुरेश) को एक मिनट भी सांसद बने रहने का अधिकार नहीं है, उन्होंने संविधान का उल्लंघन किया है

रविशंकर प्रसाद  ने आगे कहा कि कांग्रेस और उसके सहयोगी हम पर संविधान का उल्लंघन करने का आरोप लगाते हैं, लेकिन भारत को तोड़ने संबंधी डीके सुरेश की असंवैधानिक टिप्पणियों पर कुछ नहीं कह रहे हैं. 

डीके सुरेश ने क्या कहा?
बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए सुरेश ने कहा था, ”हमारी मांग है कि हमें अपने राज्य से वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी), सीमा शुल्क और प्रत्यक्ष करों में अपना हिस्सा मिलना चाहिए। हम दक्षिण भारत के साथ बहुत अन्याय होते हुए देख रहे हैं. हम अपने हिस्से का पैसा उत्तर भारत में बंटते हुए देख रहे हैं. ’’

सुरेश ने कहा, ‘‘आज हम इसकी निंदा नहीं करेंगे तो आने वाले दिनों में दक्षिण भारत के लिए एक अलग राष्ट्र का प्रस्ताव रखने की नौबत आ जाएगी. ’’

ये भी पढ़ें- ‘इंडिया गठबंधन खत्म हो चुका है’, संजय राउत के सामने बोले प्रकाश प्रकाश आंबेडकर



RELATED ARTICLES

Most Popular