spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeIndiaMaharashtra MLC elections BJP Shiv Sena UBT NCP parties Afraid of cross...

Maharashtra MLC elections BJP Shiv Sena UBT NCP parties Afraid of cross voting resort Politics start ann


Maharashtra MLC Election: महाराष्ट्र में 12 जुलाई को विधान परिषद की 11 सीटों के लिए वोटिंग होनी है. ये इलेक्शन दिलचस्प हो गया है. यहां पर 11 सीटों के लिए 12 उम्मीदवार चुनावी दंगल में उतारे गए हैं. ऐसे में अटकलें हैं कि क्रॉस वोटिंग भी हो सकती है. इसलिए वोटिंग से पहले महाविकास आघाडी और महायुति को अपने विधायकों के टूटने का डर सता रहा है, इसलिए महाराष्ट्र में एक बार फिर चुनाव से पहले होटल/ रिजॉर्ट पॉलिटिक्स शुरू हो गया है. बीजेपी, शिवसेना (UBT), शिवसेना (शिंदे) और एनसीपी (AP) ने अपने विधायकों को होटल में ठहरने का आदेश दिया है. 

अलग- अलग पार्टियों के विधायकों को किस होटल में ठहरने के लिए कहा गया है ये भी आपको बता देते हैं. 

  • बीजेपी- ताज प्रेसीडेंसी
  • शिवसेना- ताज लैंड 
  • शिवसेना (UBT)- ITC ग्रैंड मराठा
  • एनसीपी (AP)- होटल ललित

विधान परिषद चुनाव का गणित क्या है? 

महाराष्ट्र विधानसभा की मौजूदा स्ट्रेंथ 274 है. विधानसभा की कुल स्ट्रेंथ 288 है. विधान परिषद की एक सीट जीतने के लिए 23 वोट की जरूरत है. विधान परिषद चुनाव में बीजेपी के 5, शिवसेना के 2 और एनसीपी (AP) के 2 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं. दूसरी ओर महाविकास अघाड़ी के 3 उम्मीदवार विधान परिषद चुनाव में अपनी किस्मत आजमा रहे है. शिवसेना UBT से 1 उम्मीदवार, कांग्रेस से 1 उम्मीदवार और एनसीपी (SP) ने चुनाव में अपना उम्मीदवार ना उतारकर भारतीय शेतकारी कामगार पार्टी जयंत पाटिल को अपना समर्थन दिया है. 

कौन सी पार्टी के कितने विधायक है. 

बीजेपी- 103
कांग्रेस- 37
शिवसेना (UBT)- 15
शिवसेना (शिंदे)- 38
एनसीपी (अजित पवार)- 40
एनसीपी (शरद पवार)- 12 

अन्य छोटी- छोटी पार्टियों के पास कितने विधायक मौजूद हैं.

  • बहुजन विकास आघाड़ी- 3
  • समाजवादी पार्टी- 2 
  • MIM- 2 
  • प्रहार जनशक्ती पार्टी- 2
  • MNS- 1
  • पीजेंट्स एंड वर्कर्स पार्टी ऑफ़ इंडिया- 1
  • राष्ट्रीय समाज पक्ष- 1
  • कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ़ इंडिया (मार्क्सवादी)-1 
  • क्रांतिकारी शेतकरी पार्टी- 1
  • जन सुराज्य शक्ति- 1
  • निर्दलीय- 13

अलग-अलग पार्टियों से विधान परिषद का चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार के नाम

बीजेपी के 5 विधान परिषद उम्मीदवार:-

  • पंकजा मुंडे 
  • परिणय फुके
  • सदाभाऊ खोत 
  • अमित गोरखे 
  • योगेश टिलेकर

 राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (AP) 

  • शिवाजी राव गरजे
  • राजेश विटेकर

 शिवसेना (शिंदे)

  •  कृपाल तुमाने
  •  भावना गवली

 शिवसेना – UBT

  •  1.मिलिंद नार्वेकर 

 शेकाप – NCP शरद पवार समर्थित उम्मीदवार 

  • 1.जयंत पाटिल 

 कांग्रेस-

  •  1.प्रज्ञा सातव

विधायकों को होटल में रुकवाना एक आम प्रक्रिया- बीजेपी MLC प्रवीण दरेकर

विधान परिषद चुनाव से पहले विधायकों को अलग- अलग होटल में ठहराने और क्रॉस वोटिंग के डर पर बीजेपी MLC प्रवीण दरेकर ने कहा कि चुनाव से पहले विधायकों को होटल में रुकवाना एक आम प्रक्रिया है. इसे क्रॉस वोटिंग से जोड़कर नही देखना चाहिए. सिर्फ हमने ही नहीं. बल्कि महाविकास आघाड़ी के नेताओ ने भी अपने विधायकों को होटल में रुकने के लिए कहा है. हम लोग अपने उम्मीदवार के जीत के लिए पूरी तरह से कंडिडेन्ट है. विधायको से मिलकर उन्हें बताएंगे कि चुनाव में वोट कैसे करना है… ताकि हमारा एक भी वोट खाली ना जाए. 

शिवसेना (शिंदे) गुट के विधायक संजय सिरसाट ने भी विधायकों को होटल में रुकने के आदेश पर बोला कि ये एक नॉर्मल प्रक्रिया है. इसमें क्रॉस वोटिंग को लेकर डर जैसा कुछ भी नहीं है. 

सत्ताधारी पार्टी को क्रॉस वोटिंग का डर सता रहा- आनंद दुबे

शिवसेना (UBT) प्रवक्ता आनंद दुबे ने कहा कि ऑपरेशन लोटस के कारण हमने अपने विधायकों को होटल में रुकने के लिए कहा है. बीजेपी ऑपरेशन लोटस के लिए जानी जाती है. इसलिए हमने अपने विधायकों को होटल में रखा है. लोकसभा के परिणाम के बाद महायुति में शामिल विधायकों को भी पता है कि विधानसभा चुनाव में महाविकास आघाड़ी की सरकार बनेगी. इसीलिए चुनाव में कुछ विधायक हमें क्रॉस वोटिंग के जरिए मदद कर सकते है. इसलिए सत्ताधारी पार्टी को क्रॉस वोटिंग का डर सता रहा है. 

महाविकास आघाड़ी के तीनो उम्मीदवार जीतेंगे – विजय वडेट्टीवार

विधानसभा ने नेता विपक्ष कांग्रेस नेता विजय वडेट्टीवार ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी को पता है कि उनका उम्मीदवार जीत रहा है.  इसलिए हमने अपने विधायकों को किसी भी होटल में रुकने के लिए नहीं कहा है. सिर्फ कांग्रेस पार्टी का ही नही बल्कि महाविकास आघाड़ी के तीनो उम्मीदवार जीतेंगे. 

पूरा होटल खरीद सकती है महायुति- जितेन्द्र आव्हाड

एनसीपी (SP) गुट के विधायक जितेन्द्र आव्हाड ने विधायकों के होटल में रोक के रखे जाने पर कटाक्ष करते हुए कहा कि, महायुति के पास इतना पैसा है कि होटल का कमरा बुक करना तो छोड़िए. अगर ये चाहे तो पूरा होटल खरीदकर अपने विधायकों को वहां रुकवा सकते है. 

मिलिंद नार्वेकर को उम्मीदवार बनाने पर क्यों बिगड़ा गणित?

सूत्रों की माने तो, विधान परिषद चुनाव में शिवसेना (UBT) की ओर से मिलिंद नार्वेकर को उम्मीदवार बनाए जाने पर विधानपरिषद चुनाव का गणित बिगड़ा है. चुनाव में एक उम्मीदवार को जीतने के लिए 23 वोटो की जरूरत है और शिवसेना (UBT) के पास अपने सिर्फ 15 विधायक है. तो वही दूसरी तरफ एनसीपी (AP) के दूसरे उम्मीदवार और एनसीपी (SP) समर्थित उम्मीदवार जयंत पाटिल को भी जीत के लिए दूसरे पार्टी के विधायको पर निर्भर रहना होगा. अगर विधान परिषद चुनाव के दौरान क्रॉस वोटिंग होती है तो इसका सबसे ज्यादा फायदा उद्धव ठाकरे और एनसीपी (SP) समर्थित उम्मीदवार जयंत पाटिल को होगा. 

विधान परिषद चुनाव के क्रॉस वोटिंग के संभावनाओं को लेकर राजनीति के जानकार क्या कहते है? 

महाराष्ट्र में चाहे राज्यसभा के चुनाव हो या विधान परिषद के चुनाव हो. यहाँ क्रॉस वोटिंग की पुरानी परंपरा रही है और पिछले कुछ सालों में तो ये एक ट्रेंड सा बन गया है. विपक्षी गठबंधन अगर क्रॉस वोटिंग के डर से अपने विधायकों को होटलों में रुकने के लिए कहती है तो एक बार समझ में भी आता , लेकिन. ऐसा पहली बार हुआ है कि बीजेपी अपने विधायकों को होटल में रुकने के लिए कह रही है. ऐसा इसलिए क्योंकि भले ही बीते चार दशकों में विधान परिषद का ऐसा एक चुनाव नहीं गया, जहाँ क्रॉस वोटिंग ना हुई हो. लेकिन इन 4 दशकों में बीजेपी ने अपने विधायकों को क्रॉस वोटिंग से बचा कर रखा, लेकिन इस बार बीजेपी भी अपने विधायको को होटल में रुकने के लिए कह रही है. इससे ये स्पष्ट होता है कि बीजेपी की बेचैनी बढ़ी हुई है. 

यह भी पढ़ें- यूपी उपचुनाव में भिड़ेंगे दलित राजनीति के दो सूरमा… चंद्रशेखर बनाम मायावती की जंग में कौन मारेगा बाजी?



Source link

RELATED ARTICLES

Most Popular