https://www.fapjunk.com https://pornohit.net london escort london escorts buy instagram followers buy tiktok followers Ankara Escort Cialis Cialis 20 Mg
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeIndiaGiriraj Singh Hitback Arvind Kejriwal And Asaduddin Owaisi Over Sunderkand Path

Giriraj Singh Hitback Arvind Kejriwal And Asaduddin Owaisi Over Sunderkand Path


Giriraj Singh Hitback Asaduddin Owaisi: केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी की ‘अरविंद केजरीवाल और बीजेपी में कोई अंतर नहीं’ वाली टिप्पणी पर प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि चाहे वह असदुद्दीन ओवैसी हों या अरविंद केजरीवाल, वे सभी ‘सनातन धर्म’ और देश के खिलाफ हैं.

बीजेपी नेता ने आगे कहा, “संजय राउत और दिग्विजय सिंह कह रहे हैं कि मंदिर जहां कहा गया था वहां बना ही नहीं. मैं कहता हूं दिग्विजय बाबू कभी विवादित ढांचे के टूटने से पहले या टूटने के बाद वहां गए थे. वह टेंट में कभी भगवान राम दर्शन करने या प्रणाम करने गए थे?”

इस बीच दिल्ली के सीएम केजरीवाल रोहिणी के सेक्टर 11 स्थित प्राचीन श्री बालाजी मंदिर में हो रहे सुंदरकांड पाठ में शामिल हुए. उनके साथ उनकी पत्नी भी मंदिर पहुंची.

सीएम केजरीवाल ने किया था सुंदरकांड पाठ के आयोजन का ऐलान
इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार (15 जनवरी) को ऐलान किया था कि वे मंगलवार यानी आज से दिल्ली के सभी विधानसभा क्षेत्र में सुंदरकांड पाठ का आयोजन करेंगे. इसको लेकर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने तंज कसा.

‘बीजेपी और AAP में कोई फर्क नहीं’
ओवैसी ने न्यूज एजेंसी पीटीआई से कहा कि आम आदमी पार्टी (AAP) और बीजेपी में क्या अंतर है? वह अब बीजेपी और आरएसएस के एजेंडे पर चल रहे हैं. केजरीवाल कह रहे हैं कि वह दिल्ली में ‘सुंदरकांड पाठ’ का आयोजन करेंगे और ‘हनुमान चालीसा’ का पाठ करेंगे. उनमें और बीजेपी में कोई फर्क नहीं है.

ओवैसी ने आगे पूछा कि सेक्युलरिज्म कहां दफन हो गया है? कोई कहता है कि हम सरयू नदी जाएंगे तो कोई दिल्ली के स्कूलों में हनुमान चालीसा का पाठ करवा रहा है. क्या यह कॉम्पिटेटिव हिंदुत्व नहीं है. क्या ये बहुसंख्यक वोट को हासिल करने के लिए नहीं कर रहे हैं?

‘सुंदरकांड पाठ किसी नहीं होनी चाहिए आपत्ति’
वहीं, ओवैसी के बयान पर दिल्ली के स्वास्थ्यमंत्री सौरभ भारद्वाज ने भी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने न्यूज एजेंसी एएनआई से कहा, “मुझे नहीं लगता कि मुझे उन्हें जवाब देना चाहिए. मैं भगवान हनुमान से प्रार्थना करूंगा कि वे भी उन्हें आशीर्वाद दें. किसी भी राजनीतिक दल को सुंदरकांड पाठ जैसे अच्छे कार्यक्रम पर आपत्ति नहीं होनी चाहिए. अगर वे आपत्ति जता रहे हैं तो यह ठीक नहीं है.”

यह भी पढ़ें- रामलला प्राण प्रतिष्ठा के दिन के लिए ममता बनर्जी ने तैयार किया मंदिर वाला प्लान, जानें और क्या है कार्यक्रम?



RELATED ARTICLES

Most Popular