spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeIndiaCongress And National Conference Alliance Defeated BJP In LAHDC Election First Poll...

Congress And National Conference Alliance Defeated BJP In LAHDC Election First Poll After Article 370 Scrapped


LAHDC Election End result 2023: आर्टिकल 370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर में हुए पहले चुनाव में कांग्रेस और नेशनल कॉन्फ्रेंस गठबंधन ने कारगिल में लद्दाख स्वायत्त पर्वतीय परिषद के चुनावों में बीजेपी को शिकस्त दे दी है.

26 सीटों वाली लद्दाख परिषद के चुनाव में वोटों की गिनती जारी है. हालांकि, कांग्रेस और नेशनल कॉन्फ्रेंस ने बीजेपी को काफी पीछे छोड़ दिया है. अभी तक जिन 22 सीटों के नतीजे घोषित किए गए, उनमें से कांग्रेस ने आठ और नेशनल कॉन्फ्रेंस ने 11 सीटों पर जीत हासिल की है. वहीं, बीजेपी ने महज 2 सीटें हासिल की हैं. एक सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार ने भी जीत दर्ज की है. इसके बाद वोटिंग अधिकार रखने वाले चार सदस्यों को उपराज्यपाल बाद में नामित करेंगे.

महबूबा मुफ्ती ने जताई खुशी
पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने कहा कि नेशनल कॉन्फ्रेंस और कांग्रेस जैसी धर्मनिरपेक्ष पार्टियों को कारगिल में जीतते देखना खुशी की बात है. शुरुआती रुझानों में गठबंधन की बड़ी जीत दिखाई देने पर महबूबा मुफ्ती ने पोस्ट किया, “नेशनल कॉन्फ्रेंस और कांग्रेस जैसी धर्मनिरपेक्ष पार्टियों को कारगिल में जीत दर्ज करते देख खुशी हो रही है.”

कारगिल जिले में लगभग 65 प्रतिशत वोटिंग
पांचवें एलएएचडीसी चुनाव के तीसरे दौर में कारगिल जिले में लगभग 65 प्रतिशत वोटिंग हुई थी. पिछले महीने की शुरुआत में सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद लद्दाख प्रशासन ने कारगिल क्षेत्र में पांचवें एलएएचडीसी के चुनाव के लिए एक नए कार्यक्रम की घोषणा की थी.

यह नोटिफिकेशन उस समय आया था जब सुप्रीम कोर्ट ने आगामी चुनाव के लिए नेशनल कॉन्फ्रेंस के पार्टी चिन्ह को बहाल करते हुए केंद्र शासित प्रदेश प्रशासन की पिछली चुनाव अधिसूचना को भी रद्द कर दिया था.

नेशनल कांफ्रेंस और कांग्रेस का गठबंधन
अधिसूचना के अनुसार 30 सदस्यीय LAHDC की 26 सीटों के लिए चुनाव 4 अक्टूबर को हुए थे. कांग्रेस ने चुनाव से पहले नेशनल कॉन्फ्रेंस से हाथ मिलाया और 22 उम्मीदवार उतारे. एनसी ने 17 को मैदान में उतारा. 

बीजेपी ने 17 उम्मीदवार मैदान में उतारे
पिछले चुनाव में बीजेपी ने एक सीट जीती थी और बाद में दो पीडीपी पार्षदों के शामिल होने से उसकी सीटों की संख्या तीन हो गई थी. हालांकि, इस बार बीजेपी ने कुल 17 उम्मीदवार खड़े किए थे. आम आदमी पार्टी (आप) ने चार सीटों पर अपनी किस्मत आजमाई, जबकि 25 निर्दलीय भी मैदान में थे.

यह भी पढ़ें- कर्नाटक में हुआ गणपति महोत्सव को रोकने का प्रयास, भड़के पूर्व CM बोम्मई, कहा- अगर हिंदू भावनाएं आहत हुईं तो…

RELATED ARTICLES

Most Popular