https://www.fapjunk.com https://pornohit.net london escort london escorts buy instagram followers buy tiktok followers Ankara Escort Cialis Cialis 20 Mg
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeIndiaBihar CM Nitish Kumar May Join NDA BJP Split Mahagathbandhan 2024 Lok...

Bihar CM Nitish Kumar May Join NDA BJP Split Mahagathbandhan 2024 Lok Sabha Election


Nitish Kumar: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक बार फिर पाला बदलने वाले हैं. इन दिनों राजनीतिक गलियारों में इस बात की बहुत ज्यादा चर्चा हो रही है. नीतीश कुमार के पाला बदलते ही बिहार में बना महागठबंधन टूट जाएगा, जिसका असर 2024 लोकसभा चुनाव पर सीधे तौर पर पड़ने वाला है. महागठबंधन में लालू यादव की आरजेडी, नीतीश कुमार की जेडीयू, कांग्रेस और लेफ्ट पार्टियां शामिल हैं. दावे किए जा रहे हैं नीतीश फिर से एनडीए में शामिल हो सकते हैं.

गुरुवार (25 जनवरी) को बीजेपी का केंद्रीय नेतृत्व काफी एक्टिव रहा. बिहार बीजेपी अध्यक्ष सम्राट चौधरी और अन्य वरिष्ठ नेताओं को दिल्ली बुलाया गया और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के निवास पर बैठक हुई. देर शाम तक चली बैठक में बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा भी शामिल हुए. वहीं, नीतीश के बीजेपी के साथ जाने की चर्चा इसलिए भी हो रही हैं, क्योंकि पिछले कुछ दिनों से उन्होंने पाला बदलने का सिग्नल देना शुरू कर दिया था. आइए आपको ऐसे 10 सिग्नल के बारे में बताते हैं.

  • भारत सरकार ने जब एलान किया कि कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न दिया जाएगा, तो नीतीश कुमार ने तुरंत ट्वीट कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद कहा. उन्होंने कहा कि कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न दिया जाना खुशी की बात है. इसके लिए मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद कहना चाहूंगा. 
  • कर्पूरी ठाकुर की जयंती पर उनके गांव पहुंचे नीतीश ने उनके बेटे रामनाथ ठाकुर की तरफ इशारा करते हुए कहा कि कर्पूरी जी ने कभी अपने बेटे को आगे नहीं बढ़ाया. उन्होंने कभी परिवार को आगे नहीं रखा. वह सिद्धांत पर काम करने वाले व्यक्ति थे. इसे लालू परिवार को लेकर तंज के तौर पर देखा गया.
  • कांग्रेस नेता राहुल गांधी ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ लेकर बिहार आ रहे हैं. उनकी यात्रा पूर्णिया से गुजरने वाली है, जहां नीतीश के शामिल होने की उम्मीद थी. हालांकि, उस दिन बिहार सीएम अन्य कार्यों में व्यस्त रहने वाले हैं, जिससे वह यात्रा में शामिल नहीं हो पाएंगे. 
  • नीतीश कुमार ने गुरुवार पटना में कैबिनेट की बैठक की, जो महज 25 मिनट चली. इसके बाद न तो कोई प्रेस कॉन्फ्रेंस की गई और न ही वो चिट्ठी जारी हुई, जिसमें जानकारी होती है कि किन एजेंडों पर मुहर लगाई गई है. इसे भी नीतीश के नाराज होने की वजह माना गया. 
  • जेडीयू नेता भी इन दिनों बीजेपी को लेकर ज्यादा बयानबाजी नहीं कर रहे हैं. अगर वे कुछ कह रहे हैं, तो उसमें नरमी नजर आ रही है. जेडीयू के नेता और बिहार के भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी ने तो यहां तक कहा कि अमित शाह ने कभी ये नहीं कहा है कि नीतीश के लिए दरवाजे बंद हो गए हैं.
  • बिहार में जेडीयू ने साफ कर दिया है कि वह 16 सीटों से कम पर समझौता नहीं करने वाली है. कांग्रेस चाहती है कि उसे बिहार की 40 में से 10 सीटों पर चुनाव लड़ने का मौका मिले, लेकिन जेडीयू इसके खिलाफ है. 
  • नीतीश कुमार मंगलवार को अचानक राज्यपाल राजेन्द्र विश्वनाथ आर्लेकर से मिलने पहुंच गए. कहा गया कि विश्वविद्यालयों के वाइस-चांसलर के मुद्दे पर राज्यपाल और मुख्यमंत्री की मुलाकात की. हालांकि, इसके कई मतलब निकाले गए. 
  • झारखंड के रामगढ़ में 4 फरवरी को नीतीश कुमार की रैली होने वाली थी, जिसे रद्द कर दिया गया है. इस बात की भी जानकारी नहीं दी गई, आखिर झारखंड दौरा रद्द करने के पीछे की वजह क्या है. 
  • कर्पूरी ठाकुर की जन्मजयंती पर आयोजित एक रैली में नीतीश कुमार ने कहा कि केंद्र सरकार ने हमारी एक मांग मानी है. हम चाहते हैं कि दूसरी मांग भी मानी जाए. उन्होंने कहा कि हम सिर्फ काम करते हैं और काम करते रहेंगे. राज्य हित में जो करना होगा, वह करते रहेंगे. 
  • बिहार के बेतिया में 4 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक रैली करने वाले हैं, जिसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी शामिल होंगे. इस रैली में नीतीश कुमार पीएम मोदी संग मंच साझा करने वाले हैं. 

यह भी पढ़ें: नीतीश कुमार को लेकर अटकलों के बीच सम्राट चौधरी की अमित शाह के साथ बैठक, क्या हुई बात?

RELATED ARTICLES

Most Popular