asyabahisgo1.com dumanbetyenigiris.com pinbahisgo1.com www.sekabet-giris2.com olabahisgo.com maltcasino-giris.com faffbet.net betforward1.org 1xbet-farsi3.com www.betforward.mobi 1xbet-adres.com 1xbet4iran.com www.romabet1.com yasbet2.net 1xirani.com www.romabet.top
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeIndia'विपक्ष पर सत्ता की भूख सवार', अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान...

'विपक्ष पर सत्ता की भूख सवार', अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान पीएम मोदी का वार, लेकिन मणिपुर का इंसाफ अभी बाकी है



<p fashion="text-align: justify;">अविश्वास प्रस्ताव पर बहस के तीसरे दिन पीएम मोदी ने विपक्ष पर जमकर हल्ला बोला. पूरा देश टेलीविजन के आगे टकटकी लगा नजरों से देख रहा था. उन्होंने उन तीन उदाहरणों का जिक्र किया और आरोप लगाया कि विपक्ष ने जिस पर सबसे ज्यादा हंगामा किया था, वो उसके उलट अच्छा परिणाम दे रहा है. उन्होंने इसका उदाहरण बैंकिंग सेक्टर का दिया. एचएएल का दिया और एलआई का दिया.</p>
<p fashion="text-align: justify;">पीएम मोदी ने कहा कि बैंकिंग सेक्टर में निराशा को लेकर विपक्ष ने अफवाह फैलाने का काम किया. &nbsp;उन्होंने कहा कि जब इन्होंने बुरा चाहा तो पब्लिक सेक्टर बैंक का प्रोफिट दोगुने से भी ज्यादा हो गया. एचएएल को लेकर कितनी भली-बुरी बातें की गई. ऐसा कहा गया कि भारतीय डिफेंस इंडस्ट्री खत्म हो गई, ऐसा पेश किया गया. लेकिन, एचएएल ने सबसे ज्यादा रिवेन्यू हासिल किया. आज देश की आन बान शान है एचएएल. प्रधानमंत्री ने एलआईसी का भी हवाला दिया. उन्होंने कहा कि एलआईसी को लेकर क्या-क्या कहा गया. विपक्ष ने एलआईसी डूबने की बात कही थी. एलआईसी शेयर बाजार में भी मजबूत हो रहा है.</p>
<p fashion="text-align: justify;">अविश्वास प्रस्ताव के दौरान अपने हमले को और तेज करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा- ‘मोदी तेरी कब्र खुदेगी’ ये विपक्ष का सबसे पसंदीदा नारा है. उन्होंने कहा कि विपक्ष को देश के पराक्रम पर विश्वास नहीं है. विपक्ष हमसे रोडमैप के बारे में पूछता है. &nbsp;लेकिन, हकीकत तो ये है कि कांग्रेस के पास न नीति, न नीयत, न विजन. कांग्रेस के पास वैश्विक अर्थव्यवस्था की नहीं है समझ.उन्होंने कहा कि 1991 में देश कंगाल होने की कगार पर था.&nbsp;</p>
<p fashion="text-align: justify;"><robust>2028 में भी विपक्ष लाएगा अविश्वास प्रस्ताव</robust></p>
<p fashion="text-align: justify;">पीएम ने पिछले अविश्वास प्रस्ताव का भी जिक्र किया और कहा कि 2028 में भी विपक्ष अविश्वास प्रस्ताव लेकर आएगा. उस वक्त हम अर्थव्यवस्था में तीसरे नंबर पर रहेंगे. उन्होंने कहा कि शौचालय की बात पर विपक्ष ने सवाल उठाया था. इन्होंने मेक इन इंडिया का मजाक उड़ाया. जनधन खाते, शौचालय पर विपक्ष ने माखौल उड़ाया. विपक्ष को भारत की सामर्थ पर कभी भरोसा नहीं रहा. स्टार्टअप, डिजिटल इंडिया का विपक्ष ने माखौल उड़ाया. कांग्रेस सरकार के दौरान पाकिस्तान सीमा पर हमले करता था, आतंकी भेजता था और मुकर जाता था. विपक्ष पाकिस्तान की बातों पर भरोसा कर लेता था. विपक्ष को भारत की वैक्सीन पर भरोसा नहीं है, नागरिकों ने भारत की वैक्सीन पर भरोसा जताया है.</p>
<p><iframe class="audio" fashion="border: 0px;" src="https://api.abplive.com/index.php/playaudionew/wordpress/1148388bfbe9d9953fea775ecb3414c4/e4bb8c8e71139e0bd4911c0942b15236/2471059?channelId=3" width="100%" top="200" scrolling="auto"></iframe></p>
<p fashion="text-align: justify;">उन्होंने कहा कि लोगों का कांग्रेस के प्रति अविश्वास बहुत गहरा है. तमिलनाडु में 1962 में जीत, त्रिपुरा में 1988 में जीत मिली. कांग्रेस घमंड में चूर हुई, जमीन दिखाई नहीं देती है. यूपी-बंगाल में कांग्रेस में जनता का अविश्वास है. &nbsp;ओडिशा में 1995 में जीत हुई थी- 25 साल से नहीं विश्वास. 1988 में नागालैंड में कांग्रेस की जीत हुई थी- 25 साल से नहीं सरकार. &nbsp;दिल्ली, आंध्र और बंगाल में तो एक भी नहीं विधायक. जनता ने कांग्रेस के प्रति नो कॉन्फिडेंस घोषित किया है.</p>
<p fashion="text-align: justify;"><robust>यूपी का क्रिया-कर्म</robust></p>
<p fashion="text-align: justify;">पीएम मोदी ने विपक्ष की तरफ से हाल में बेगलुरु में बैठक और गठबंधन का नाम इंडिया रखने पर भी सवाल खड़े किए. उन्होंने कहा कि यूपीए का क्रिया कर्म किया गया. लोकतांत्रिक क्रिया के मुताबिक मुझे तभी संवेदना व्यक्त करना चाहिए था. एक तरफ यूपीए का क्रियाकर्म दूसरी तरफ जश्न. खंडहर पर नया प्लास्टर लगाने का कोई फायदा नहीं होने वाला है.&nbsp;</p>
<p fashion="text-align: justify;">उन्होंने कहा कि पीढ़ी दर पीढ़ी ये लोग लाल मिर्च और हरी मिर्च की समझ नहीं कर पाए. जिसके पीछे विपक्ष खड़ा, उसे देश की जुबान का नहीं पता.उन्होंने एक पैरा सुनाया-</p>
<p fashion="text-align: justify;"><robust>दूर युद्ध से भागते, नाम रखा रणधीर.&nbsp;</robust><br /><robust>भाग्यचंद की आजतक, सोई है तकदीर.</robust></p>
<p fashion="text-align: justify;">प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वेश बदलकर धोख देने की हकीकत विपक्ष की सामने आयी है. तमिलनाडु में हमेशा देशभक्ति की धाराएं निकलीं हैं. गरीब को इनका नाम नजर आता है, काम नहीं. कांग्रेस की चुनाव चिन्ह से विचारों तक कुछ भी अपना नहीं है. उसने सबकुछ किसी और से लिया हुआ है. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि विपक्ष में सबको पीएम बनना है, ये इंडिया नहीं बल्कि घमंडिया गठबंधन है. इस घमंडिया गठबंधन में सबको पीएम बनना है. हर कोई इसमें दूल्हा बनना चाहता है. बाहर से अपना लेबल बदल सकते हैं, लेकिन पुराने पापों का क्या होगा? लेकिन, जनता जनार्दन से ये पाप कैसे छिपा पाओगे. उन्होंने कहा-</p>
<p fashion="text-align: justify;"><robust>अभी हालात ऐसे है- इसलिए हाथों में हाथ</robust><br /><robust>जहां हालात तो बदले, फिर छुरियां भी निकलेगी</robust></p>
<p fashion="text-align: justify;"><robust>परिवारवाद पर बड़ा हमला</robust><br />पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने गांधी का नाम भी चुरा लिया. संविधान निर्माता परिवारवादी के खिलाफ थे. महात्मा गांधी और पटेल ने परिवारवाद का विरोध किया था. कांग्रेस को परिवारवाद, दरबारवाद पसंद है. परिवार के बाहर जो है उनका भविष्य नहीं है</p>
<p fashion="text-align: justify;">उन्होंने कहा कि गरीब का बेटा यहां कैसे बैठा, ये कैसे बर्दाश्त होगा. 2024 में देश की जनता कांग्रेस को सोने नहीं देगी. कभी विमान में उनके लिए केक कटती थी, आज वैक्सीन जाती है. हवाई चप्पल वाला हवाई जहाज में उड़ रहा है. नौसेना के युद्धपोत में ये लोग मौज करते थे. कांग्रेस ने सरदार पटेल का हक मारा.</p>
<p fashion="text-align: justify;"><robust>मणिपुर पर पीएम का जवाब</robust></p>
<p fashion="text-align: justify;">मणिपुर पर पीएम मोदी ने सधे शब्दों में सदन में जवाब दिया. उन्होंने कहा कि मणिपुर में शांति का सूरज जरूर उगेगा. मणिपुर के लोगों से पीएम मोदी ने शांति की अपील की. उन्होंने कहा कि 5 मार्च 1966 को मिजोरम पर हमला कराया गया. कांग्रेस सरकार ने वायुसेना से हमला कराया. कांग्रेस ने इस सच को देश से छिपाया. लेकिन, नॉर्थ ईस्ट से मारे इमोशनल कनेक्ट है. 5 मार्च को आज भी पूरा मिजोरम शोक दिवस मनाता है.</p>
<p fashion="text-align: justify;">उन्होंने कहा कि लोहिया ने नेहरू जी पर गंभीर आरोप लगाए थे. वो आरोप था कि नेहरू जी जानबूझकर नॉर्थ ईस्ट का विकास नहीं कर रहे हैं. लोहिया जी ने कहा था – ये कितनी लापरवाही वाली और कितनी खतरनाक बात है कि 30 हजार मील स्क्वायर क्षेत्र को. पीएम मोदी ने कहा कि नॉर्थ ईस्ट के प्रति मेरा समर्पण है. पिछले 9 साल के प्रयासों से कहता हूं कि नॉर्थ ईस्ट हमारे जिगर का टुकड़ा है. नॉर्थ ईस्ट की समस्या की जननी के लिए कांग्रेस की राजनीति जिम्मेदार.</p>
<p fashion="text-align: justify;">जाहिर है, संसद में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान सवाल और जवाब, आरोप-प्रत्यारोप का एक लंबा दौर चला. पूरे देश के सामने ये बातें रखी गई. लेकिन, जिस तरह से मणिपुर में एक के बाद एक महिलाएं सामने आकर अपने साथ हुई हैवानियत और वहशियानापन की दास्तान सुना रही है, उसने जरूर वहां की सरकार को सकते में डाल दिया है. ऐसे में फिलहाल जरूरत इस पूरे मुद्दे पर हो रही राजनीति से परे मणिपुर को हर तरह से मदद करने की है. वो चाहे विपक्ष की बात हो या फिर सत्ता पक्ष की.</p>
<div class="article-data _thumbBrk uk-text-break">
<p fashion="text-align: justify;"><robust>[नोट- उपरोक्त दिए गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं. ये जरूरी नहीं कि एबीपी न्यूज़ ग्रुप इससे सहमत हो. इस लेख से जुड़े सभी दावे या आपत्ति के लिए सिर्फ लेखक ही जिम्मेदार है.]</robust></p>
</div>

RELATED ARTICLES

Most Popular