https://www.fapjunk.com https://pornohit.net london escort london escorts buy instagram followers buy tiktok followers Ankara Escort Cialis Cialis 20 Mg
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeIndiaचारा से जमीन के बदले नौकरी तक...उन घोटाले की डिटेल रिपोर्ट, जिसमें...

चारा से जमीन के बदले नौकरी तक…उन घोटाले की डिटेल रिपोर्ट, जिसमें लालू परिवार है आरोपी



<p model="text-align: justify;">बिहार में महागठबंधन की सरकार गिरने के एक दिन बाद ही आरजेडी प्रमुख लालू यादव पर प्रवर्तन निदेशालय ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है.&nbsp;</p>
<p model="text-align: justify;">दरअसल 29 जनवरी की सुबह प्रवर्तन निदेशालय के पटना जोनल दफ्तर ने लालू यादव से लैंड फॉर जॉब केस में पूछताछ के लिए बुलाया था. अब आज यानी 30 जनवरी को तेजस्वी यादव से पूछताछ होनी है.</p>
<p model="text-align: justify;">इस केस में ईडी ने चार्जशीट दाखिल की है. जिसमें लालू यादव की दो बेटियों मीसा भारती और हेमा यादव समेत उनकी पत्नी राबड़ी देवी का भी नाम शामिल है. चार्जशीट में इस बात का भी जिक्र किया गया है कि पूर्व मुख्यमंत्री और लालू यादव की पत्नी राबड़ी देवी ने इस घोटाले से मिले पैसों से तेजस्वी यादव को दिल्ली में बंगला खरीदकर दिया है.&nbsp;</p>
<p model="text-align: justify;">यह बंगला दिल्ली के न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में है. जिसे तेजस्वी ने अमित कात्याल से खरीदा था और इस फ्लैट के पूर्व मालिक कात्याल &nbsp;इसी मामले में फिलहाल जेल की सलाखों के पीछे हैं.&nbsp;</p>
<p model="text-align: justify;"><em>ऐसे में इस रिपोर्ट में विस्तार से समझते हैं कि लैंड फॉर स्कैम क्या है और लालू परिवार इसके अलावा किन किन घोटालों में आरोपी है….</em></p>
<p model="text-align: justify;"><em><br /><img src="https://feeds.abplive.com/onecms/pictures/uploaded-images/2024/01/30/5b2d4a5d9471921c83a0ea89ea4e05b21706591564916268_original.jpg" /></em></p>
<p model="text-align: justify;"><sturdy>क्या है लैंड फॉर जॉब स्कैम&nbsp;</sturdy></p>
<p model="text-align: justify;">लैंड फॉर जॉब स्कैम, यह घोटाला साल 2004 से 2009 के बीच का है, उस वक्त लालू यादव रेल मंत्री थे. ऐसा दावा है कि लालू ने इस पद पर रहते हुए लोगों को रेलवे में नौकरी देने के बदले उनसे जमीन ली थी.&nbsp;</p>
<p model="text-align: justify;"><sturdy>डिटेल में समझिए…</sturdy></p>
<p model="text-align: justify;">यह 14 साल पुराना मामला है लेकिन इसे लेकर 18 मई 2023 को सीबीआई ने केस दर्ज किया था. सीबीआई के अनुसार, जब लालू यादव रेल मंत्री थे उस वक्त रेलवे में ग्रुप डी के पदों पर सब्स्टीट्यूट के तौर पर भर्ती किया जाता था और उन लोगों के परिवार ने जमीन का सौदा किया, तब उन्हें जमीन के बदले रेगुलर कर दिया गया.</p>
<p model="text-align: justify;">सीबीआई के अनुसार बिहार की राजधानी पटना में लालू यादव के परिवार ने इसी तरह 1.05 लाख वर्ग फीट जमीन पर कब्जा कर रखा है. सीबीआई के अनुसार इन जमीनों को लालू परिवार ने नकद देकर खरीदा था और उस वक्त इन जमीनों को &nbsp;बेहद कम दामों में बेचा गया था.&nbsp;</p>
<p model="text-align: justify;"><sturdy>भरती का नोटिस नहीं किया जाता था जारी&nbsp;</sturdy></p>
<p model="text-align: justify;">इस पूरे मामले की जांच के दौरान सीबीआई ने ये भी पाया कि उस वक्त जोनल रेलवे में सब्स्टीट्यूट की हायरिंग के लिए किसी तरह का विज्ञापन या नोटिस जारी नहीं किया जाता था. लेकिन, जिन लोगों ने लालू यादव के परिवारों को अपनी जमीन दी, उनके परिवार के सदस्यों को रेलवे में मुंबई, जबलपुर, कोलकाता, जयपुर और हाजीपुर में नौकरी दी गई.</p>
<p model="text-align: justify;"><sturdy>लैंड फॉर जॉब के अलावा किन किन घोटलों में लालू परिवार है आरोपी&nbsp;</sturdy></p>
<p model="text-align: justify;"><sturdy>आईआरसीटीसी घोटाला -&nbsp;</sturdy>लालू प्रसाद यादव के रेल मंत्री रहते हुए उनपर IRCTC होटल घोटाले का आरोप है. इस दौरान लालू यादव आईआरसीटीसी के रांची और पुरी स्थित दो होटलों को लीज पर प्राइवेट कंपनी सुजाता होटल प्राइवेट लिमिटेड को दे दिया गया था. &nbsp;</p>
<p model="text-align: justify;">इस मामले में CBI का आरोप है कि इन दोनों होटलों को प्राइवेट कंपनी को लीज पर देने के बदले इस कंपनी के मालिक ने लालू परिवार को बिहार की राजधानी पटना के बेली रोड में लगभग 3 एकड़ की जमीन दी थी.</p>
<p model="text-align: justify;">सीबीआई के अनुसार पटना की ये जमीन पहले डिलाइट कंपनी को दी गई थी और जिसके बाद इसे राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव की मालिकाना हक वाली लारा प्रोजेक्ट कंपनी प्राइवेट लिमिटेड को बेंच दी गई.&nbsp;</p>
<p model="text-align: justify;">इतना ही नहीं पहली बार जमीन खरीदने वाली कंपनी डिलाइट भी आरजेडी के कद्दावर नेता प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी सरला गुप्ता की है.&nbsp;</p>
<p model="text-align: justify;"><sturdy>चारा घोटाला – </sturdy>साल 1995 के दिसंबर महीने में बिहार के उस वक्त के फाइनेंस कमिश्नर वीएस दुबे अलग-अलग सरकारी विभागों की परफॉर्मेंस चेक कर रहे थे. इस चेकिंग के दौरान उन्हें पता चला कि पशुपालन विभाग में करोड़ों रुपयों की हेराफेरी हुई है. पशुपालन विभाग में सालों से फर्जी बिल के माध्यम से करोड़ों रुपये निकाले जा रहे हैं.</p>
<p model="text-align: justify;">शुरू में फाइनेंस मिनिस्टर ने अनुमान लगाया कि ये हेराफेरी 410 करोड़ रुपये की होगी, लेकिन इस पूरे मामले की जब अच्छे से जांच हुई तो यह रकम इससे कहीं ज्यादा बड़ी थी. जांच से पता चला की ये घोटाला 950 करोड़ रुपये से ज्यादा का है.</p>
<p model="text-align: justify;">सीबीआई ने साल 1996 में इस घोटाले के मामले 53 केस दर्ज किए. इस 53 केसों में कुल 170 लोगों को आरोपी बनाया गया था.&nbsp;<br />इन्ही में से एक लालू प्रसाद यादव थे. उनके साथ पूर्व सांसद जगदीश शर्मा, पब्लिक अकाउंट्स कमेटी के अध्यक्ष ध्रुव भगत, पशुपालन विभाग के तत्कालीन सचिव बेक जूलियस और पशुपालन विभाग के असिस्टेंट डायरेक्टर डॉ. केएम प्रसाद का नाम भी शामिल था.</p>
<p model="text-align: justify;"><sturdy>29 जनवरी के पूछताछ में क्या-क्या सवाल किए गए</sturdy></p>
<p model="text-align: justify;">सोमवार यानी 29 जनवरी को आरजेडी प्रमुख लालू यादव को लैंड फॉर जॉब मामले में ईडी ने पूछताछ के लिए पटना दफ्तर बुलाया था. लालू के वहां पहुंचने के बाद ईडी ने उनसे 10 घंटे की पूछताछ की और 50 सवाल पूछे. कहा जा रहा है कि इन सभी सवालों को वीडियो रिकॉर्ड किया गया.&nbsp;</p>
<p model="text-align: justify;">जिस वक्त लालू यादव से पूछताछ की जा रही थी उस वक्त वहां उनकी बेटी मीसा भारती भी मौजूद थी. आरजेडी कार्यकर्ता भी पूरे दिन पटना के ईडी दफ्तर के बाहर खड़े थे.&nbsp;</p>
<p model="text-align: justify;"><sturdy>किसने क्या कहा&nbsp;</sturdy></p>
<p model="text-align: justify;">इतना ही नहीं पहले आरजेडी ने लालू यादव से हुई पूछताछ को बदले की भावना से की गई कार्रवाई बताते हुए केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा. इस मामले को लेकर जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव की प्रतिक्रिया आई है. उन्होंने बीजेपी की सरकार पर निशाना साधा.</p>
<p model="text-align: justify;">पप्पू यादव ने सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म एक्स पर लिखा, "आदरणीय लालू प्रसाद जी की उम्र, अवस्था और बीमारी के बावजूद नौ घंटे तक पूछताछ संस्थाओं के पतन की पराकाष्ठा है भाजपा सरकार को मटियामेट कर लोकतंत्र की मर्यादाओं की रक्षा करें."</p>
<p model="text-align: justify;">आरजेडी चीफ और लालू यादव की बेटी रोहिणी आचार्य ने भी बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा, "लोग कहते हैं : "लालू व लालू परिवार झुकेगा नहीं छापों – पूछताछ का ये सिलसिला रुकेगा नहीं. जितना प्रताड़ित – परेशान करोगे &nbsp;उससे और ज्यादा मजबूत होगा लालू – राबड़ी परिवार …"</p>
<p model="text-align: justify;"><sturdy>बीजेपी ने भी दी प्रतिक्रिया&nbsp;</sturdy></p>
<p model="text-align: justify;">वहीं लालू यादव से ईडी की पूछताछ पर बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद ने तंज सकते हुए कहा, ‘आप लूटेंगे तो जेल तो जाएंगे ही. लालू यादव की बेटी ने अंदेशा जाताया था कि सरकार उनके पिता को गिरफ्तार कर सकती है.'</p>

RELATED ARTICLES

Most Popular